समाज को तार-तार की साजिश के पीछे कौन?

हरियाणा में जाट आरक्षण आंदोलन तो लगभग समाप्त हो गया है मगर समाज के विभिन्न वर्गों को आपस में लड़वाने की जो खतरनाक साजिश विदेशियों के इशारे पर चल रही है यदि उसे सरकार ने सख्ती से नहीं कुचला तो उसके बेहद खतरनाक परिणाम होंगे। समाज में समरसता और सद्भावना की भावना को प्रोत्साहन देने की बजाय कुछ स्वार्थी तत्व अपने निहित हितों के कारण सुनियोजित ढंग से हरियाणावी समाज के विभिन्न वर्गों के बीच वैमनस्य और नफरत भड़काने का प्रयास कर रहे हैं।

Be the first to comment

Leave a Reply