उच्च शिक्षा भला कैसे सुधरे ?

शिक्षा वो बुनियाद होती है जिस पर देश के सपनों का महल खड़ा होता है लेकिन अफसोसजनक बात यह है कि अपनी मेधा का दुनिया भर में लोहा मनवा रहे भारतीयों के अपने देश में एक भी ऐसा उच्च शैक्षणिक संस्थान नहीं है जो कि जो दुनिया के टॉप-200 में शामिल हो। इसको लेकर पीएम का दर्द पटना विश्वविद्यालय के कार्यक्रम छलक आया लेकिन अहम सवाल यह है कि वो उच्च शिक्षा कैसे सुधरेगी जिस पर सतही ज्ञान, भाई-भतीजावाद, अकर्मण्यता व माफियाओं का ग्रहण लगा हो।