सीता (रमण) की अग्नि परीक्षा?

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आमतौर पर चैंकाने वाले फैसलों के लिए भी जाने जाते हैं। जहां तक कोई सोच नहीं पाता, वहां तक जाकर वह सोचते हैं और उसे क्रियान्वित भी कर देते हैं। हालांकि उनके इस फैसले की तारीफ और आलोचना दोनों हुई है। ये भी सही है कि निर्मला सीतारमण को रक्षा मंत्रालय को समझने में भी काफी समय लगेगा। उनकी नियुक्ति बेहद चुनौतीपूर्ण और अनिश्चित समय में हुई है। ये कहना भी जल्दबाजी होगी कि वह इस पद के लायक हैं या नहीं। लेकिन ये भी सही है कि बहुत से ऐसे लोग रक्षा मंत्री रह चुके हैं, जिनकी तुलना में निर्मला न केवल योग्य हैं बल्कि सोच समझ के स्तर पर भी बेहद काबिल है।